लॉक डाउन में अपने बच्चो के देखभाल के लिए Best पांच tips-2020

लॉक डाउन में पेरेट्स अपने बच्चो की देखरेख केसे करे |

तरह से हम लोग लॉक डाउनकी वजह से खुद को नहीं सम्भाल पा रहे है ठीक उसी तरह बच्चे भी तेयार नहीं थे |जेसे  उनके लिए स्कूल न जाना ,बाहर दोस्तों के साथ घुमने या खेलने न जाना ,नये बच्चों से दोस्ती नहीं होने का सामना करना पड रहा है |जेसे  की पेरेंट्स को अपने बच्चे को सही से गाइड करना मुश्किल हो गया है | लेकिन बच्चे इसी दोर से अपनी जिन्दगी सवारने की शुरुआत करते है |
तो एसी स्थिती में पेरेंट्सको अपने बच्चो की केसे मदद कर सकते है कुछ साधर से टिप्स है जिसे आप फॉलो कर सकते है

1. मोबाइल से दूर रखे


education kides, atal ,study
deprestion,kides

इस समय बच्चे भी तनाव महसूस कर रहे होगे और हम लोगो तो डिजिटल डिवाइस की वजह से बिजी रहते है और बच्चे भी पहले की तुलना से आजकल ज्यादा ऑनलाइन रहते है तो आप ऐसी स्थिती में बच्चो को इनसे दूर रखे ,उनके बेडरूम से डिवाइस गेजेट्स हटा लेना चाहिए ,इसके अलावा हम बच्चो को मोटिवेट कर सकते है और उनको अच्छे खाने और एक्ससाईंज के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए|

2. गेम्स

lockdown, games, kides, 2020
chesh ,game

बच्चो को मानसिक और शारीरिक रूप से फिट रखने के लिए आप ऑनलाइन गेम्स ,अमेजन प्राइम , टीवी, इत्यादी पर पसंदीदा शो देखने के बजाये आप उन्हें इंडोर गेम्स खेलने के लिए प्रोत्साहित करे | जेसे चेस केरम ,लूडो इत्यादी |

3. बातचीत करना

homework,kides2020,covid-19
kides with father

हमे बच्चो की बातो को समझ कर अर्थात उनकी भावनाओ को समझ कर उनका समान करना चाहिए
हमे पता है की उनकी कुछ बाते गलत हो सकती है लेकिन खासतोर पर हम पेरेंट बच्चो की भावनाओ को नहीं समझते है |हमे उनको सोशल मिडिया का उपयोग न करके व्यक्तिगत रूप से बातचीत करने के बारे में बताना चाहिए |

4.किताबो का शोक

top 10, homework, ataleducation
littal kides study

हमे बच्चे के मन में किताबो को पढने का शोक पैदा करना चाहिए |जेसे किताबे पढना,कुकिग ,अच्छे उपन्यास,न्यूज़ पेपर इत्यादी से ज्ञान पाने में काफी मदद मिलती है |हा पर बाकि के शोक भी उतने ही जरुरी है ये उनकी खुद की रूचि पर निर्भर करता है बच्चो का शोक जो भी हो उनके माता पिता को उसे विकसित करने में उनकी मदद करनी चाहिए |

5.अनुशाशन

excise,lockdown, yoga, atal education
yoga, dicipline

हमे बच्चो को अनुसाशन और लक्ष्य के अधार पर जीवन को अपनाने में उनकी मदद करनी चाहिए | बच्चो को अच्छा ज्ञान और सामाजिक जिम्मेदारी के महत्व के बारे में पता होना चाहिए | और इन सबको बछा तब हाशिल कर पायेगा तब वह अनुशाशन में हो और ध्यान केन्द्रित हो |


 covid-19 नामक बीमारी की वजह से लॉकडाउन में लगभग 20 वर्ष से कम के बच्चो में तनाव आ गयो होगा |क्योकि उनकी हमेशा की रूटीन आदतो में बदलाव आ गया है इस मुश्किल में पेरेट्स को अपने बच्चो पर ध्यान देना चाहिए और आगे भी भविष्य में चुनोतियो को ध्यान में रखते हुए बच्चो को सकारात्मक दिशा देनी चाहिए |और पेरेट्स को अपने बच्चो को यह भी बताना चाहिये की ऐसी गम्भीर स्थिती उन्हें अच्छी नींद ,खान-पिन  और खेल-खुद में ज्यादा समय बिताना चाहिए |

YOU MAY  ALSO LIKE:- If You Like This Article Then Scroll Down The Page, Follow Me And My Website.

  

Leave a Comment

Your email address will not be published.